Relationship

क्यों ना हर रिश्ते को दोस्ती की नज़र से देखा जाये।

रिलेशन को आप दोस्ती का नाम दे सकते है जिससे रिलेशन कभी खराब नहीं होगा। दोस्ती मे हम कुछ बनते नहीं है, दोस्ती मे आप अपनी fellings को शेयर कर सकते और करते भी होंगे जो की शायद आप किसी और से नहीं कर पाते। क्यों ? क्योकि आपके रिलेशन सब के साथ वैसे नहीं है जो आपके दोस्तों के साथ है। अपने आप को किसी की जगह पर रख कर के सोचो जैसे की अगर आप पिता या माता हो तो आप की दुख की वजह कौन होगा ? आप का बेटा या बेटी, अगर पति हो तो पत्नी से जुड़े ही विचार आएंगे और कोई आ सकते है ? नहीं ना, सुबह से रात तक यही तो हो रहा है।


अगर बेटा बन गए तो आप की सब से बड़ी दुख की जड़ जो की लगभग सब को लगती होगी की आप अपने माता पिता से परेशान होते हो और उनसे दूर रहने की कोशिश करते हो, बहाने ढूंढ़ते हो की अगर मैं कहीं दूर रहूँ तो खुश रहुँगा। सोचते है की मेरे दुख की जड़ कौन है माता पिता ऐसा होता है यार ये natural fact है ऐसा सब को लगता है पर हकीकत आप सब को पता है। यार तुम कुछ मत बनो जो हो वही रहो और देखो, सोचो की हम क्या कर रहे है। अगर बनना है तो दोस्त बनो बाप क्यों बन रहे हो किसी के या बेटा क्यों बन रहे हो, दुनिया की नज़र मे बनो, अंदर से दोस्त बनो तो बच्चों को सही सलाह दोगे और बेटे हो तो बड़ी से बड़ी porblems भी छोटी लगने लगेगी। यार जिस चीज की जितनी value है उस को उतनी तो दो | उसी तरह पिता को पिता की और बेटे को बेटे की value समझनी जरुरी है। मानता हुं ये सभी बातें बहुत आम है पर कोई समझता नहीं है।


मेरा मानना ये है की अगर हम दुनिया के हर एक रिश्ते को सिर्फ उसी नज़र से देखे जैसे हम अपनी दोस्ती को देखते है तो शायद हमारा जीवन बहुत आसान हो जायेगा क्योकि दोस्ती से खूबसूरत रिश्ता तो इस दुनिया मे है ही नहीं।
क्यों हम हर रिश्ते मे सिर्फ मतलब ढूँढ़ते है , क्या हम हर रिश्ते को दोस्ती की तरह पाक और साफ़ नहीं रख सकते जो किसी से किसी मतलब से नहीं की गयी, आप दोस्त के बाप तो नहीं बन सकते लेकिन बाप के दोस्त जरूर बन सकते हो अगर आपने ये बात समझ ली तो आप जीवन मे कभी हारेगे नहीं क्योकि आप को पता है आप के साथ एक दोस्त जैसा पिता खड़ा है।

दोस्तों क्यों ना हर रिश्ते को दोस्ती की नज़र से देखा जाये।

Tips for Happy and Long Lasting Relationship

Why are relationships so hard today ?

Why do we fail at love every time, despite trying so hard? Have we forgotten how to love? Or worse, forgotten what love is?…well the answer to all this is …..

We’re not prepared. We’re not prepared for the sacrifices, for the compromises, for the unconditional love. We’re not ready to invest all that it takes to make a relationship work. We want everything easy. All it takes is a single hurdle to make us fall down to our feet…..!

It’s not love we’re looking for, only excitement and thrill in life. We want someone to watch movies and party with, not someone who understands us even in our deepest silences. We spend time together, we don’t make memories. We don’t want the boring life. We don’t want a partner for life, just someone who can make us feel alive right now, at this very instant. When the excitement fades…we discover nobody ever prepared us for the ordinaire ….!

We don’t believe in the beauty of certainty because we’re too blinded by the thrill of adventure…!
We don’t have time to love, we don’t have the patience to deal with relationships. We’re busy people chasing materialistic dreams and there’s no scope to love. Relationships are nothing more than convenience.
We look for instant pleasure in everything we do …. the things we post online, the careers we choose, and the people we fall in love with.

We believe more in meeting people than getting to know them. We’re greedy. We want to have everything. We get into relationships at the slightest attraction and step out, the moment we find someone better…! We don’t want to bring out the best in that one person. We want them to be perfect. We date a lot of people but rarely give any of them a real chance. We’re disappointed in everyone. Apparently, nothing’s worth our time and patience ….not even love.

People think that…WE HAVE TOO MUCH OF EACH OTHER ALREADY….SO THERE’S NOTHING LEFT TO TALK ABOUT….!!!

We’re the hook-up-break-up generation. We have sex first and then decide if we want to love someone. Sex comes easy, loyalty doesn’t. Getting laid has become the new getting drunk. You do it not because you love the other person, but because you want to feel good. It’s all the temporary fulfilment we need.

We’re the practical generation who runs by logic alone. We don’t know how to love madly anymore. We wouldn’t take a flight to a far-off land just to see someone we love. We’d break up because, long distance. We’re too sensible for love. Too sensible for our own good.

We don’t even value relationships anymore. We let go of the most WONDERFUL PEOPLE for ‘the other fish in the sea.’ We don’t consider them cherished anymore.

And this is the only point where we are lagging behind….for some…. these are cliche words that don’t really mean anything RIGHT???BUT AGAIN….

Everyone has a person or a group of friends who is always there for them no matter what..!so Guyssss….No matter what has happened, No matter what you’ve done. No matter what you will do…. JUST INFUSE YOUR LIFE WITH ACTION… with one of the most important thing of the world “LOVE”

As david levithan said…” It’s one thing to fall in love. It’s another to feel someone else fall in love with you, and to feel a responsibility toward that love.”